पूरी नहीं हुई मन्नत तो भगवान पर उतारा गुस्सा, मंदिर में घुसकर तोड़ डालीं मूर्तियां; पुलिस ने किया गिरफ्तार…

आरोपी युवक अपने परिजनों के अच्छे स्वास्थ्य के लिए पूजा-पाठ कर भगवान से मन्नतें मांगता था, लेकिन जब उन्हें आराम नहीं हुआ तो उसने भगवान से नाराज होकर एक मंदिर में लगी मूर्तियों को खंडित कर दिया।

मन्नत पूरी न होने के चलते भगवान से नाराज एक युवक ने मंदिर में लगी देवी-देवताओं की मूर्तियों को छेनी-हथौड़े से खंडित कर दिया। घटना की जानकारी मिलते ही नोएडा पुलिस ने महज 24 घंटे के अंदर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी मूलरूप से मध्य प्रदेश के जिला छतरपुर का रहने वाला है।

जानकारी के अनुसार, आरोपी अपने परिवार के लोगों के बीमार होने पर पूजा-पाठ कर भगवान से उनके ठीक होने की मन्नत मांग रहा था, लेकिन जब उन्हें आराम नहीं हुआ तो उसने गुस्से में आकर एक मंदिर में लगी देवी-देवताओं की मूर्ति को खंडित कर दिया।

आरोपी की पहचान विनोद उर्फ भूरा निवासी सी-153 सेक्टर-37 थाना बीटा-2 गौतमबुद्धनगर के रूप में हुई है। विनोद मूलरूप से मध्य प्रदेश के जिला छतरपुर का रहने वाला है।

पुलिस ने मंगलवार को बताया कि ग्रेटर नोएडा के थाना बीटा-2 पुलिस द्वारा एक धार्मिक स्थल पर देवी-देवताओं की मूर्तियां खंडित कर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है। पुलिस ने आरोपी के पास से घटना में प्रयुक्त छेनी-हथौड़ा भी बरामद कर लिया है। पुलिस ने उसे सेक्टर 36-37 गोलचक्कर के पास से गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस ने बताया कि 23 मई रात को आरोपी द्वारा सेक्टर-37 स्थित मंदिर में रखी मूर्तियां खंडित कर दी गई थीं। इसके संबंध में वादी और अन्य स्थानीय व्यक्तियों द्वारा अज्ञात अभियुक्त के द्वारा मुकदमा दर्ज कराया गया था। इस मामले में बीटा-2 थाना पुलिस द्वारा तुरंत कार्रवाई करते हुए महज 24 घंटे के अंदर आरोपी विनोद उर्फ भूरा को घटना में प्रयुक्त छेनी-हथौडे़ के साथ गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी ने पुलिस की पूछताछ में बताया कि वह लगभग दो-तीन साल से अपने पारिवारिक सदस्यों की बीमारी को लेकर भगवान से मन्नत मांगते हुए लगातार पूजा-पाठ कर रहा था, लेकिन परिजनों को बीमारी से आराम नहीं हो रहा था। इस बीच उसकी चाची की मौत हो जाने के कारण नाराज होकर उसने छेनी-हथौड़े से मूर्तियां खंडित करने का अपराध स्वीकार किया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *